चौथी दुनिया के प्रधान संपादक संतोष भारतीय ने हुर्रियत के वरिष्ठ नेता प्रो. अब्दुल ग़नी बट से कश्मीर मसले पर विस्तृत बातचीत की. सवाल- प्रोफेसर साहब, कश्मीर जहां आज खड़ा हुआ है, ऐसा लगता है कि दो दीवारें खड़ी हैं, जिनमें कोई सुराख़ नज़र नहीं आ रहा है. इनमें सुराख़ करने का क्या तरीक़ा है और आज के हालात […]

संतोष भारतीय ने हुर्रियत के वरिष्ठ नेता सैयद अली शाह गिलानी से कश्मीर मसले से लेकर उनकी व्यक्तिगत ज़िंदगी के बारे में विस्तृत बातचीत की. सवाल – जैसे ही यहां से जम्मू की तरफ बढ़ते हैं या हवाई जहाज़ उड़ता है, फिर समझ लीजिए कन्फ्यूज़न ही कन्फ्यूज़न है. तो अभी हम लोग बात कर रहे थे. आप ने यहां […]

मैं बैठा सोच रहा था कि कश्मीर में क्या हो रहा होगा? मैं अपने दो पत्रकार मित्रों अशोक वानखेड़े और अभय दुबे के साथ, जब 11 से 13 सितंबर को श्रीनगर में था, तो श्रीनगर की वो तस्वीर सामने आई, जिसका दिल्ली में बैठ कर एहसास ही नहीं हो सकता. तब लगा कि जो लखनऊ, […]

श्रीनगर का चश्मेशाही कभी पर्यटकों का बड़ा आकर्षण हुआ करता था. आज यहां कोई नहीं जा सकता- केवल पुलिस के लोग दिखाई देते हैं, क्योंकि यहां के गेस्टहाउस में मीरवाइज़ मौलवी उमर फारूक़ क़ैद हैं. केवल सिपाही, जेल कर्मचारी और भालू यहां आते हैं. रात के सन्नाटे में चूहों की भागदौड़ लकड़ी की खूबसूरत छत […]

मैं अभी-अभी चार दिन की यात्रा के बाद जम्मू-कश्मीर से लौटा हूं. चारों दिन मैं कश्मीर वादी में रहा और मुझे ये लगा कि मैं आपको वहां के हालात से अवगत कराऊं. हालांकि आपके यहां से पत्र का उत्तर आने की प्रथा समाप्त हो गई है, ऐसा आपके साथियों का कहना है, लेकिन फिर भी […]

अचानक रामजन्म भूमि का मुद्दा देश में गरमाने लगा. बिहार चुनाव से पहले और बिहार चुनाव में गाय मुद्दा थी. अब असम और पंजाब में चुनाव होने वाले हैं, उत्तर प्रदेश में अगले साल चुनाव हैं, तो रामजन्म भूमि का मुद्दा खड़ा हो गया. संघ प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण के ऊपर सवाल उठाते हुए […]

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ लोग इन दिनों थोड़ा दुखी हैं. ऐसा इसलिए, क्योंकि केंद्र सरकार उनके मन मुताबिक नहीं चल रही है. सरकार कुछ अलग तरह से चल रही है और संघ के लोग इसे कुछ अलग तरह से चलते देखना चाहते थे. उन्हें लगता है कि उन्होंने जिस आशा में जी-जान लगाकर सरकार […]

बिहार में महा-गठबंधन सरकार के गठन के साथ ही एक नई राजनीति का सूत्रपात हो गया है. पूरे देश की नज़र बिहार सरकार पर टिक गई है और बिहार सरकार की नज़र राज्य के विकास पर. इस सरकार से राज्य की जनता को बहुत आशाएं हैं और भरोसा भी. अगर यह महा-गठबंधन सरकार बिहार को […]

बिहार चुनाव संपूर्ण देश के लिए आंख खोलने वाला चुनाव है. बिहार चुनाव यह बताता है कि स़िर्फ बड़ी-बड़ी बातें करने या नरेंद्र मोदी एवं अरुण जेटली वाला मॉडल बताने से विकास नहीं होता. हमारे देश में कितना पैसा एफडीआई में आया, कितना पैसा मेक इन इंडिया में आया, कौन-सी कंपनियां आईं, सफाई हुई या […]

क्या एक बयान चुनाव को इधर से उधर कर सकता है? कम से कम मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तो उन्होंने सोनिया गांधी के एक बयान को गुजरात में अपने कैंपेन का मुख्य मुद्दा बना लिया था और भाजपा के लोगों का मानना है कि उसी मुद्दे के आधार पर नरेंद्र […]